Join WhatsApp Group

News-web

2 साल से नही आ रही थी किसान सम्मान निधि,एक ट्वीट के बाद केवाईसी करने खुद अधिकारी पहुंचे गांव

Updated on:

Kisan Samman Nidhi was not coming for 2 years, after a tweet the officer himself reached the village to do KYC, it is a case of Almora

अल्मोड़ा निवासी एक बुजुर्ग की किसान सम्मान निधि पिछले दो साल से बंद थी। उनके रेटिना और अगूंठे का स्कैन ना हो पाने के कारण वह किसान सम्मान निधि से ​वंचित थे। बीते कल पत्रकार हेमराज सिंह चौहान ने इस बाबत एक ट्वीट किया था। ट्वीट में उन्होंने सीएम धामी और पीएम मोदी के ट्विटर हैंडल को मेंशन किया था।


ट्वीट के बाद से मानो सरकार नींद से जागी और आनन फानन में अधिकारियों को गांव में भेजकर वही केवाईसी करवाई। यह मामला अल्मोड़ा जिले के लमगड़ा विकासखण्ड के तुलेड़ी गांव का है। यहां के रहने वाले बुजुर्ग धर्म सिंह दो साल से प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि से वंचित थे। इस बात का पता अधिकारियों को था लेकिन अल्मोड़ा जिले के किसी भी अधिकारी ने इसका समाधान करने की जहमत नही दिखाई। बीते दिवस यानि सोमवार को प्रधानमंत्री के किसान सम्मान निधि की किस्त जारी करने के बाद अल्मोड़ा निवासी पत्रकार हेमराज सिंह चौहान ने उक्त बुजुर्ग का एक वीडियो पीएम,सीएम और अल्मोड़ा के डीएम को ट्वीट किया तो इसके बाद मशीनरी हरकत में आई।

मामला सीएम के संज्ञान में आने के बाद बुजुर्ग की हुई ई-केवाईसी


इधर मामला संज्ञान में आने के बाद मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने ने बुजुर्ग की ई-केवाईसी कराने के लिए अधिकारियों को निर्देश दिए। सचिव शैलेश बगोली ने मामले को प्राथमिकता से लेते हुए तत्काल प्रभाव से बुजुर्ग की ई-केवाईसी कराने को कहा। सचिव के आदेश के बाद प्रशासन के आला अधिकारियों ने धर्म सिंह के घर जाकर उनकी ई-केवाईसी की। उम्मीद है कि अब धर्म सिंह को भी अन्य किसानों की तरह किसान सम्मान निधि का लाभ मिल सकेगा।


मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि उनकी सरकार बुजुर्ग, महिलाओं और दिव्यांगों के कल्याण के लिए पूरी तरह से समर्पित है। हमारा प्रयास डबल इंजन सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं से प्रत्येक वर्ग को लाभान्वित करना है।इधर ईकेवाईसी होने और उनके मामले का त्वरित संज्ञान लेने पर बुजुर्ग ने मुख्यमंत्री का आभार जताया है।