उत्तरा न्यूज
अभी अभी उत्तराखंड

साहब! ईगास का अवकाश (holiday of egas)केवल चुनावी वर्ष में ही था क्या ? अवकाश कलेंडर तो कुछ ऐसा ही कह रहा है

Big updates on Aadhaar and Voter ID

holiday of egas

उत्तरा न्यूज: दीवाली के ठीक 11 दिन बाद पड़ने वाले उत्तराखंड के लोक पारंपरिक त्यौहार ईगास holiday of egasकी चर्चा हर किसी के जुबां पर थी। कोई इसे राज्य का लोक पर्व बता रहा था तो कोई ऐसा त्यौहार जो हमारी सांस्कृतिक जड़ों को पोषण देने वाला है।


राजनीति से जुड़े लोगों ने तो इस पर्व को उत्तराखंड की एकता और सांस्कृति के साथ जोड़ा। कोई सोशल मीडिया से इसे भव्यता से मनाने का आह्वान कर रहा था तो किसी ने इस अवसर पर अपने लाव लश्कर के साथ भ्रमण कार्यक्रम तय कर दिये।सरकार ने इस अवधि के दिन सार्वजनिक अवकाश (holiday of egas)की घोषणा तक कर दी और जब यह पता लगा कि इस वर्ष इगास पर्व के दिन रविवार है तो उदारता दिखाते हुए ईगास के अगले दिन यानि 15 अक्टूबर की छुट्टी की घोषणा कर दी।
(holiday of egas)


इसके बाद यह लग रहा था कि राज्य स्थापना दिवस के बाद सरकार इस पर्व को मनाने के लिए सबसे अधिक उत्साहित है।


यूं तो उत्तराखंड में कई पर्व मनाए जाते हैं। यह पर्व सदियों से मनाए जाते रहे हैं। किन्ही पर्वों में अवकाश दिया जाता है तो किन्ही में नहीं बावूूजूद जनता के सरोकारों से यह पर्व हर साल मनाए जाते रहे हैं।

nitin communication

इगास भी एक ऐसा ही पर्व है जो पूरे उत्साह से उत्तराखंड में मनाया जाता है। कभी भी यहां की जनता ने इसकी छुट्टी की मांग नहीं की। लेकिन पर्व को मनाया पूरी शिद्दत से। इसे गढ़वाल क्षेत्र में इगास तो कुमाऊं क्षेत्र में बूढ़ी दिवाली के रूप में मनाया जाता रहा है।

इस साल सरकार, विपक्ष और राजनीति से जुड़ी हर सख्सियत इस पर्व को लेकर अति उत्साहित थी। लेकिन जब अगले वर्ष छुट्टियों का कलेंडर घोषित किया गया तो इसमें इगास का अवकाश देना शायद सरकारी मशीनरी भूल गयी या उसे इसकी जरूरत नही लगी।

http://बड़ी खबर, 2022 में इतने दिन रहेगा अवकाश, उत्तराखण्ड सरकार ने जारी की अवकाश की सूची, यहां देखे पूरी लिस्ट

हालांकि (holiday of egas)अवकाश की मांग जनता की ओर से कभी भी नहीं आई यह सरकार की ओर से दिया गया अवकाश था लेकिन यदि इस पर्व को लेकर सरकार इतनी ही सजग थी ​तो इसे आगामी कलेंडर में शामिल क्यों नहीं किया गया यह एक सोचने वाला विषय है। तब विपक्ष भी इस पर्व को लेकर खूब शोर मचा रहा था।

holiday of egas


इस बार के कलेंडर में निर्दिष्ट अवकाशों के रूप में गुरू गोविंद सिंह जयंती, चेटीचंद,विश्वकर्मा पूजा और गुरू तेगबहादुर शहीद दिवस के अवकाश रखे गए हैं लेकिन इगास का अवकाश की सूचना नहीं है। इसके बाद यह प्रश्न उठ रहा है कि क्या यह केवल उत्साह केवल आगामी चुनाव के लिए था या सरकार इसके प्रति गंभीर भी थी।

holiday of egas
holiday of egas
holiday of egas

Related posts

Corona vaccination- फ्रंटलाइन वर्कर्स और वरिष्ठ नागरिक लगा सकते हैं तीसरा टीका, ऐसे करें आवेदन

Newsdesk Uttranews

पारितोष मनकोटी बने एयरफोर्स अधिकारी

Newsdesk Uttranews

शर्मनाक: चलती कार में लड़की के साथ गैंगरेप, दरोगा भर्ती की परीक्षा से लौट रही थी लड़की

Newsdesk Uttranews
error: Content is protected !!