Bageshwar- जिला बाल संरक्षण की बैठक में जिलाधिकारी ने दिए यह निर्देश

editor1
2 Min Read

बागेश्वर। मंगलवार को जिलाधिकारी अनुराधा पाल ने बाल संरक्षण की बैठक लेते हुए सीडब्ल्यूसी व समाज कल्याण अधिकारी को बाल संरक्षण गृह के लिए भूमि चयन करने के निर्देष दिए। कहा कि तब तक नीलेश्वर वृद्ध आश्रम में खोया-पाया बच्चों को रखने के लिए कमरे चिन्हित करें। इसके साथ ही उन्होंने शिक्षा व पुलिस विभाग के अधिकारियों को निर्देष दिए कि वे बच्चों में बढ रही नशे की प्रवृत्ति पर रोकथाम के लिए स्कूलों में एंटी ड्रग्स क्लब बनाने तथा विद्यालयों में बच्चों के बैग व टिफन आदि की नियमित चैकिंग करें।

जिलाधिकारी ने शिक्षा अधिकारी को सरकारी एवं प्राईवेट विद्यालयों में पीटीए का गठन कराते हुए रोस्टर बनाकर नियमित बैठकें कराने के निर्देष भी दिए। कहा कि पीटीए बैठक दिवस में सीडब्ल्यूसी, पुलिस, स्वास्थ, परिवहन विभाग बच्चों को जागरूक करने के लिए शिविरा को आयोजन भी करेंगे। उन्होंने श्रम अधिकारी को बाल श्रम को रोकने के लिए नियमित अभियान चलाने के निर्देष दिए।

जिलाधिकारी ने दिव्यांग पुनर्वास समिति की बैठक लेते हुए जनपद में शत-प्रतिशत दिव्यांग का चिन्हीकरण करने के निर्देष देते हुए नये चिन्हित दिव्यांगो के यूडीआईडी कार्ड भी बनाने के निर्देष दिए। कहा कि रोस्टर बनाकर दिव्यांग शिविरों का आयोजन करते हुए उन्हें सहायता उपकरण वितरित करने के निर्देष दिए। इस दौरान बैठक में सीडब्ल्यूसी अध्यक्ष दीवान सिंह दानू, जगदीश जोशी, संतोश टम्टा, कैलाश बोरा, हेमलता भट्ट, जेजे बोर्ड की गीता ऐठानी, जिला परिवीक्षा अधिकारी हेम तिवारी, अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डा. देवेष चौहान, जिला कार्यक्रम अधिकारी अनुलेखा बिष्ट, सीओ अंकित कंडारी, खंड शिक्षा अधिकारी चक्षुपति अवस्थी, श्याम धानिक आदि उपस्थित थे।