News-web

चारधाम यात्रा पंजीकरण में देरी? प्रशासन करेगा रहने-खाने का इंतजाम

Published on:

चारधाम यात्रा पर आने वाले श्रद्धालुओं को पंजीकरण में देरी होने पर भी परेशान होने की ज़रूरत नहीं है। गढ़वाल आयुक्त विनय शंकर पांडेय ने स्पष्ट किया है कि अगर पंजीकरण के दौरान यात्रियों को दो-चार दिन बाद का स्लॉट मिलता है, तो उनके रहने और खाने का इंतजाम प्रशासन द्वारा किया जाएगा।

गौरतलब हो, रविवार शाम को गढ़वाल आयुक्त ने ऋषिकेश के ट्रांजिट कैंप का निरीक्षण कर व्यवस्थाओं का जायज़ा लिया। उन्होंने कहा कि हमें संतुलन बनाकर चलना है और यहां पहुंचे सभी यात्रियों का पंजीकरण कराने के बाद उन्हें धामों के दर्शन कराने हैं। धामों के सभी जिलाधिकारी उनके संपर्क में हैं और जैसे ही वहां से स्थिति सामान्य होने की जानकारी मिलेगी, वैसे ही यहां से यात्रियों के अलग-अलग समूहों को टुकड़ों में छोड़ा जाएगा।

तीन दिन में भीड़ बढ़ने के सवाल पर आयुक्त ने कहा कि शनिवार और छुट्टियों के कारण कुछ भीड़ आई थी, अब स्थिति सामान्य है। यमुनोत्री जाने वाले कुछ यात्रियों को रोकने के सवाल पर उन्होंने बताया कि वहां पर ज्यादा भीड़ होने के कारण कुछ यात्रियों को रोका गया था, स्थिति सामान्य होने पर उन्हें भेज दिया गया है।

बता दें,निरीक्षण के दौरान ट्रांजिट कैंप में पंजीकरण की व्यवस्था देखी गई। नगर आयुक्त शैलेंद्र नेगी ने बताया कि 12 काउंटरों पर पंजीकरण किया जा रहा है। आयुक्त ने डॉरमेट्री का भी निरीक्षण किया, जहां एक यात्री ने शिकायत की कि सामान रखने वाली आलमारी में ताले नहीं हैं।

इस पर आयुक्त ने अपर आयुक्त गढ़वाल नरेंद्र सिंह क्वीरियाल को जल्द ताले लगवाने के निर्देश दिए। साथ ही, डॉरमेट्री में एक कर्मचारी की ड्यूटी लगाने और चादर तथा तकिये साफ़-सुथरे रखने के निर्देश दिए गए।