Coca Cola केरल सरकार को लौटाएगा 35 एकड़ जमीन,2004 में लोगों के विरोध के बाद बंद करनी पड़ी थी फैक्ट्री

Newsdesk Uttranews
3 Min Read

अंतरराष्ट्रीय ड्रिंक कंपनी Coca Cola ने केरल सरकार से पलक्कड़ जिले में कंपनी को जारी 35 एकड़ जमीन वापस करने की पेशकश की है। मुख्यमंत्री कार्यालय ने एक बयान जारी कर इसकी जानकारी दी।

प्लाचीमाडा में Coca Cola ने लगाया था प्लांट

बताते चले कि केरल के पलक्कड़ जिले के प्लाचीमाडा में Coca Cola ने एक प्लांट लगाया था,जिसका काफी विरोध हुआ था। स्थानीय लोगों ने पर्यावरण प्रदूषण और भूजल के दोहन की शिकायत की थी और Coca Cola कंपनी के खिलाफ हुए आंदोलन के बाद मजबूरन कोका कोला को मार्च 2004 में में अपनी इस यूनिट को बंद करना पड़ा था।


केरल के मुख्यमंत्री कार्यालय से जारी बयान में कहा गया है कि हिंदुस्तान कोका कोला बेवरेजेज प्राइवेट लिमिटेड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी जुआन पाब्लो रोड्रिग्ज ट्रोवेटो ने सीएम मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन को पत्र में यह प्रस्ताव दिया।पत्र के अनुसार कोका कोला फैक्ट्री की जमीन और उस पर बनी इमारत को राज्य सरकार को सौंपेगी।


केरल में सत्तारूढ़ वाम मोर्चे ने इसे पहले की इस जमीन को लेकर किसान उत्पादक संगठन (एफपीओ) से बातचीत शुरू कर दी थी। इस एफपीओ का संचालन खुद किसान करेंगे। बिजली मंत्री के कृष्णनकुट्टी की अगुवाई में हुई Coca Cola कंपनी से हुई वार्ता के बाद आखिरकार कोका कोला को जमीन वापस सरकार को देने का फैसला लेना पड़ा।
कोका कोला कंपनी ने स्थानीय किसानों के लिए एक डेमो फार्म के निर्माण के लिए तकनीकी सहायता की पेशकश की है।

कोका कोला के इस प्लांट को लेकर स्थानीय लोग बड़े आक्रोश में थे और प्लाचीमाडा स्ट्रगल सॉलिडेरिटी कमेटी के बैनर तले चले लंबे संघर्ष के बाद 2004 में पलक्कड़ जिले में कोका कोला फैक्ट्री को बंद करना पड़ा था। जमीन वापस करने की सुग​बुगाहट के चलते आंदोलनकारियों ने इसे कोका कोला कंपनी की मुआवजे से बचने की एक चाल बताया था और कहा था कि एक साजिश चल रही है।इस साजिश में कुछ राजनेता भी शामिल थे। आरोप था कि कंपनी लोगों को मुआवजे का भुगतान किए बिना भागने का प्रयास कर रही है।