shishu-mandir

हवालबाग में बाल विज्ञान मेले का समापन::110 बच्चों ने बनाई हस्तलिखित पुस्तक

editor1
5 Min Read
Screenshot-5

new-modern
holy-ange-school

Children’s Science Fair concludes in Hawalbagh: 110 children made handwritten book

gyan-vigyan

दीवार अखबार ‘ज्ञान विज्ञान टाइम्स’ तथा हस्तलिखित पुस्तक हवलबाग दर्पण का लोकार्पण बच्चों ने अखबार के मोड़ से सरल भाषा में सीखा रेखागणित

अल्मोड़ा,29 अक्टूबर- गैर शैक्षणिक गतिविधियों के माध्यम से भी बच्चे काफी कुछ सीखते हैं। यह बात पूर्व दर्जा मंत्री बिट्टू कर्नाटक उत्तराखंड सरकार ने हवालबाग में भारत ज्ञान विज्ञान समिति तथा बालप्रहरी,बालसाहित्य संस्थान अल्मोड़ा द्वारा आयोजित बाल विज्ञान मेले के समापन अवसर पर कहीं।

Children's Science Fair concludes in Hawalbagh: 110 children made handwritten book
Children’s Science Fair concludes in Hawalbagh: 110 children made handwritten book


ज्ञान विज्ञान चिल्ड्रन एकैडमी हवालबाग में 25 अक्टूबर से आयोजित 5 दिवसीय बाल विज्ञान मेले के समापन समारोह के मुख्य अतिथि बतौर बोलते हुए श्री कर्नाटक ने कहा कि बच्चे बहुत कुछ जानते हैं। उनके अंदर प्रतिभा छिपी हुई है। बस उन्हें मंच एवं अवसर दिए जाने की जरूरत है।


भारत ज्ञान विज्ञान समिति के प्रांतीय उपाध्यक्ष सेवानिवृत्त प्रधानाचार्य नीरज पंत ने कहा कि हम बड़े लोग एक अभिभावक तथा शिक्षक बतौर कई मामलों में बच्चों की उपेक्षा करते हैं। उन्होंने कहा कि बच्चों को रचनात्मक कार्यो के लिए प्रेरित किए जाने की जरूरत है। उन्होंने बच्चों के शैक्षिक विकास के लिए 10000 रुपये प्रदान किए ।


समापन समारोह की शुरूआत ‘ज्ञान का दीया जलाने’ समूह गीत से हुई। औरेगैमी के तहत अखबार से बनाए मुकट अतिथियों को पहिनाकर बच्चों ने अतिथियों का सम्मान किया। अतिथियों ने दीवार पत्रिका ‘ज्ञान विज्ञान टाइम्स’ तथा हस्तलिखित पत्रिका ‘हवालबाग’ का लोकार्पण किया। इस अवसर पर बालप्रहरी, बाल मन, बाल वाणी, बाल बिगुल, बाल स्वर, बाल भारती आदि नामों से बनी 110 हस्तलिखित पुस्तकों की प्रदर्शनी विशेष आकर्षण का केंद्र रही।


भारत ज्ञान विज्ञान समिति के ब्लाक संयोजक तथा ज्ञान विज्ञान चिल्ड्रन एकैडमी के प्रधानाचार्य अशोक पंत ने अतिथियों का स्वागत करते हुए विद्यालय का विवरण एवं परिचय दिया। उन्होंने कहा कि ग्रामीण अंचल में स्थापित विद्यालय को जनता तथा अभिभावकों का सक्रिय सहयोग मिलता रहा है। उन्होंने कहा कि विद्यालय के सभी शिक्षक एक मिशन की तरह कार्य करते हुए बच्चों के साथ मेहनत से कार्य करते हैं।

बालप्रहरी संपादक उदय किरौला द्वारा लिखित एवं निर्देशित नुक्कड़ नाटक ‘मोबाइल टन टना टन’ के माध्यम से बच्चों ने वर्तमान में मोबाइल संस्कृति पर प्रहार किया। नुक्कड़ नाटक में बरखा आर्या, रक्षिता नेगी , निहारिका आर्या , पलक मेहता , खुशी बिष्ट , गरिमा ठठोला , तमन्ना आर्य , मानसी मेहता , महक नेगी , गुंजन आर्या , कुमकुम भट्ट , कनीना आर्या , बबिता बिष्ट ,कविता मेहता , नीतू बिष्ट , प्रियांशी पंत जानवी बिष्ट. ने बतौर कलाकार भाग लिया। इस अवसर पर आयोजित बाल कवि सम्मेलन की अध्यक्षता रिच बिष्ट तथा संचालन गीतांजलि आर्या एवं दीप्ति सह ने संयुक्त रूप से किया माही नेगी , उत्कर्ष मेहता , आयुष नेगी , भावना नेगी , अनुष्का मेहता , गीतांजलि आर्या , अनुष्का आर्या , रिचा बिष्ट , कीर्ति आर्या , दिव्यांश साह , हर्षिता सह आदि बच्चों ने बाल कवि सम्मेलन में अपनी स्वरचित कविताएं पढ़ी। बच्चों के चार अन्य समूहों ने समूह गीत प्रस्तुत किए। उदय किरौला ने बच्चों को ‘आदमी की कहानी’ सुनाई।


समारोह में मुख्य अतिथि बिट्टू करवाता पूर्व दर्जा मंत्री ने अपने विचार व्यक्त किए उन्होंने स्कूल के बच्चों के खेलो को बढ़ावा देने के लिए खेल किट देने की घोषणा की विद्यालय को हर संभव मदद का आश्वासन दिया।


इस अवसर पर विनोद पंत , नीरज पंत , नरेंद्र सिंह पाल, नि विचार रखें इस अवसर पर भगवती गोसाई , डा. चंद्रकला वर्मा , कमलेश्वरी पाल , लक्ष्मण राम , पुराण सिंह नेगी आदि उपस्थित थे। अंत में भारत ज्ञान विज्ञान समिति के प्रांतीय कोषाध्यक्ष प्रमोद तिवारी ने सभी का आभार व्यक्त किया। संपूर्ण समारोह का संचालन बरखा आर्या की ने किया। प्रधानाचार्य अशोक पंत ने प्रतीक चिन्ह देकर आभार व्यक्त किया ।