shishu-mandir

जीजीआईसी सारकोट में आयोजित हुआ पुस्तक मेला(Book fair),पुस्तकों के प्रति विद्यार्थियों में दिखा उत्साह

editor1
3 Min Read
Screenshot-5

new-modern
holy-ange-school

Book fair organized at GGIC Sarkot

अल्मोड़ा, 14 फरवरी 2023—शिक्षा विभाग एवं अजीम प्रेमजी फाउण्डेशन के संयुक्त तत्वाधान में राजकीय बालिका इंटर कालेज सारकोट में पुस्तक मेला (Book fair)का आयोजन किया गया।

gyan-vigyan


पुस्तक मेले में देश-विदेश का उत्कृष्ट, सुरूचिपूर्ण एवं जीवनपयोगी साहित्य उपलब्ध कराने के साथ ही कई रूचिकर स्टाल लगाये गये। इन स्टालों के माध्यम से बच्चों को खेल-खेल में गणित सीखने, गांधी पोस्टर प्रदर्शनी, कहानी सुनने-सुनाने की कला व लैंगिक भेदभाव के प्रति जागरूक किया गया।


इस अवसर पर ”पढ़ने-लिखने की संस्कृति और अध्यापक’’विषय पर आयोजित सेमिनार को संबोधित करते हुए मुख्य अतिथि खण्ड शिक्षा अधिकारी विनय कुमार ने कहा कि बच्चों में पढ़ने की संस्कृति विकसित करने में इस तरह के मेले काफी कारगर साबित होते हैं।


उन्होंने एक अभियान चलाकर पुस्तक दान दिवस मनाने व हर गांव में पुस्तकालय खोले जाने की आवश्यकता बताई। बाल प्रहरी के संपादक उदय किरौला ने कहा कि पढ़ने की संस्कृति विकसित करने के लिए किताबों तक बच्चों की पहुंच बनानी होगी इसके लिए उन्होंने अभिभावकों से आग्रह किया कि वे रुचिकर किताबें अपने बच्चों तक पहुंचायें।

book fair
Book fair organized at GGIC Sarkot

लोक प्रबंध विकास संस्था के संचालक ईश्वर जोशी ने गांव में शैक्षणिक वातावरण तैयार करने के साथ ही सरकारी स्कूलों में पंचायत एवं अभिभावकों के जुड़ाव को मजबूत बनाये जाने की वकालत की।

जीआईसी सलौंज के प्रधानाचार्य चन्द्रकांत तिवारी ने बच्चों में अध्ययन की आदत डालने हेतु उन्हें निरंतर प्रेरित करने तथा इसके लिए विद्यालय स्तर पर स्थापित पुस्तकालय का अधिकाधिक उपयोग करने पर बल दिया। अजीम प्रेम जी फाउंडेशन के लोकेश ने किताबों की दुनिया के तमाम रोचक अनुभवों को साझा करते हुए कहा कि किताबें हमें संवेदनशील बनाती हैं।

प्रधानाचार्य पुष्पा आर्या ने वर्तमान डिजिटल दौर में किताबों के अध्ययन के प्रति जनमानस के रूझान में आ रही कमी को चिन्ताजनक बताया।

संचालन संदीप ने किया। पुस्तक मेले (Book fair)में नवल पंत, प्रीतम गुप्ता, किशोर तिवारी, डुंगर सिंह, अभिजीत, पवनेश ठकुराठी, भुवन सिराड़ी, सिंवागी वर्मा, जय प्रकाश लस्पाल, गगन साहनी, अंकित जोशी, हरीश बिष्ट, धीरज भाकुनी, गोबिन्द सिंह भंडारी आदि उपस्थित रहे।