उत्तरा न्यूज
अभी अभी उत्तराखंड बागेश्वर

Bageshwar breaking — सर्जन की बर्खास्तगी की संस्तुति के बाद ओपीडी सेवा ठप

breaking - OPD service stopped in Bageshwar

उत्तरा न्यूज की खबरें अब whatsapp पर, इस लिंक को क्लिक करें और रहें खबरों से अपडेट बिना किसी शुल्क के
Join Now

बागेश्वर (Bageshwar) में एक डॉक्टर की सेवायें समाप्त किये जाने की संस्तुति महानिदेशक स्वास्थ्य को भेजे जाने के खिलाफ डॉक्टर हड़ताल में चले गये है। बागेश्वर जिला अस्पताल में ओपीडी सेवाये ठप कर दी है।

nitin communication


आज जब सीएमएस का सर्जन डॉ महिमा सिंह की सेवायें समाप्त करने की सिफारिश से संबधित लैटर जारी हुआ उसके बाद से डॉक्टरों ने ओपीडी सेवा ठप कर दी। सर्जन डॉक्टर महिमा सिंह ने आरोप लगाया है कि उनका पक्ष सुने बिना इस तरह की एकतरफा कार्रवाही की गयी है।

breaking - OPD service stopped in Bageshwar

इधर इस मामले में सीएमएस का कहना है कि एक दैनिक अखबार के रिपोर्टर ने शिकायत की थी कि डॉक्टरों द्वारा प्राइवेट लैब से जांचे करवाई जा रही हैं और इसके बाद डॉक्टर की सेवायें समाप्त किये जाने की सिफारिश का पत्र महानिदेशक स्वास्थ्य को भेजा गया है।

ayushman diagnostics

ताया जा रहा है कि जिला चिकित्सालय की जनरल सर्जन डा. महिमा की ड्यूटी के दौरान एक निजी लैब के कर्मचारी का जिला चिकित्सालय में मरीज का सैंपल लेते समय का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया था। जिसके बाद जिलाधिकारी के निर्देश पर चिकित्सक से लिखित में स्पष्टीकरण भी मांगा गया।


यह मामला 28 सितंबर का बताया जा रहा है। महिला डॉक्टर का कहना है कि इस बीच दो बार जिलाधिकारी के कार्यालय में अपना पक्ष भी रखने गई लेकिन उन्होंने मुलाकात ही नही की। आरोप लगाया कि गांधी जयंती से एक दिन पहले सीएमएस ने न तो कोई जांच बोर्ड गठित किया और न उनका पक्ष जाना बल्कि सीधे निलंबन की सिफारिश कर दी गयी ।


इस लैटर का जैसे ही डॉक्टरो को पता चला तो उन्होने आपातकालीन सेवाओ को छोड़कर सभी सेवायें ठप कर दी। इससे अस्पताल में इलाज के लिये आये लोग परेशान है। डॉक्टर भी मरीजों की दशा देख परेशान हैं और अपनी परेशानी बता मजबूरन उन्हें इमरजेंसी में जाने की सलाह दे रहे हैं। ​ डाक्टर महिमा सिंह का आरोप है कि घटना के तीन दिन बाद बिना कोई जांच किए इस तरह की एकतरफा कार्यवाही की गई है जबकि जबकि मरीज के तीमारदार कह रहे हैं कि उन्होंने बाहर से जांच खुद ही कराई थी क्योंकि तब तक अस्पताल की लैब तब तक बंद हो चुकी थी।

Related posts

भाजपा कांग्रेस दोनों ने किया जनमत(public opinion) का अपमान— कांडपाल

Newsdesk Uttranews

दुखद: शौर्य चक्र से सम्मानित कर्नल देवेन्द्र मनकोटी का निधन

Newsdesk Uttranews

चौघानपाटा में दुर्गा महोत्सव की तैयारियां पूरी, रविवार को ​कलश यात्रा के साथ होगा आगाज

Newsdesk Uttranews