News-web

प्राथमिक विद्यालय सलोंज व मनीआगर में आयोजित हुआ तीन दिवसीय समर कैंप, खेल- खेल में शिक्षा से जुड़े बच्चे

By editor1

Published on:

A three-day summer camp was organized in primary schools Salonj and Maninagar, children engaged in education through sports and games

अल्मोड़ा, 21 जून 2024- प्रातमिक विद्यालय सलोंज व मनीआगर में 19 से 21 जून तक तीन दिवसीय समर कैंप का आयोजन किया गया।

राजकीय प्राथमिक विद्यालय सलोंज विकास खंड ताकुला में आयोजित 3 दिवसीय समर कैम्प में बच्चों ने खेल- खेल में कई गतिविधियां सीखी। यहां समर कैम्प का उद्दघाटन ताकुला विकास खंड के प्रभारी बीईओ हेमंत जोशी द्वारा किया गया।

जिसमें सलोंज के प्राथमिक व उच्च प्राथमिक ,आंगनवाड़ी के बच्चों व समुदाय के लोगों की सक्रिय प्रतिभागिता रही। कैम्प में बच्चों को खेल खेल में भाषा व गणित की गतिविधियां की गई। इसके अलावा स्टोन पेंटिंग, पत्तियों से से विभिन्न आकृतियां बनाना सीखा इसके साथ ही भाषा में कविताएं हाव-भाव से करना, कहानी से नाटक तैयार करना आदि कराई गयी।


इसके अलावा विभिन्न तरह के आर्ट एंड क्राफ्ट, डांस,जुम्बा,खेल जैसी रोचक गतिविधियां भी हुई। आर्ट एंड क्राफ्ट की गतिविधि को बच्चों द्वारा खूब पसंद किया गया। प्राथमिक विद्यालय के प्रधानाध्यापक गोकुल जोशी द्वारा बताया कि बच्चों के साथ इस प्रकार की गतिविधियां होती रहनी चाहिए इस तरह की गतिविधियां बच्चों में सामाजिक ,सृजनात्मक, वआत्मविश्वास जैसे कौशलों का विकास करती है।


कैम्प के अंतिम दिन बच्चों द्वारा नाटक की प्रस्तुति दी और सांस्कृतिक कार्यक्रम कर कैम्प का समापन किया गया। इस कार्यक्रम में स्कूल की सहायक अध्यापिका पूर्णिमा वर्मा तथा अज़ीमप्रेमजी फाउंडेशन के संदीप व शालिनी तथा ललित, प्रकाश, हेम, शंकर व अभिभावक भी शामिल रहे। समर कैम्प के आखिरी दिन बड़े हर्षोल्लास के साथ शिक्षकों, बच्चों व अभिभावकों द्वारा योग दिवस मनाया गया।


इधर 19 से 21 जून तक प्राथमिक विद्यालय मनीआगर में समर कैम्प का आयोजन किया गया। जिसमें मनीआगर के प्राथमिक व उच्च प्राथमिक ,आंगनबाड़ी के बच्चों व समुदाय के लोगों की सक्रिय प्रतिभागिता रही। कैम्प में बच्चों को खेल खेल में भाषा व गणित की गतिविधियां जैसे- वजन का अनुमान लगाना और उसके बाद वजन तोलकर उसका सही वजन ज्ञात करना , किसका वजन किस बच्चे से अधिक ,कम व बराबर है उसका पता लगाना, भाषा में कविताएं हाव-भाव से करना, कहानी से नाटक तैयार करना आदि कराई गयी। साथ ही विभिन्न तरह के आर्ट एंड क्राफ्ट, डांस,जुम्बा,खेल जैसी रोचक गतिविधियां भी हुई। आर्ट एंड क्राफ्ट की गतिविधि को बच्चों द्वारा खूब पसंद किया गया। प्राथमिक विद्यालय की सहायक अध्यापिका गीता पांडेय द्वारा बताया कि बच्चों के साथ इस प्रकार की गतिविधियां होती रहनी चाहिए इस तरह की गतिविधियां बच्चों में सामाजिक ,सृजनात्मक, वआत्मविश्वास जैसे कौशलों का विकास करती है। कैम्प के अंतिम दिन बच्चों द्वारा नाटक की प्रस्तुति दी और सांस्कृतिक कार्यक्रम कर कैम्प का समापन किया गया।