shishu-mandir

Cabinet Meeting: सुक्खू ने हाथ मिलाया विक्रमादित्य सिंह से,सियासी तकरार खत्म होने के बाद दोनों आए साथ

Smriti Nigam
3 Min Read
Screenshot-5

Himachal Cabinet Meeting: मंत्रिमंडल में शिमला जिला स्थित 50 बिस्तर की क्षमता वाले नागरिक अस्पताल सुन्नी को 100 बिस्तर की क्षमता वाले नागरिक अस्पताल में बदलने का निर्णय लिया गया है। कांगड़ा जिले के ज्वालामुखी विधानसभा क्षेत्र के सुरानी में एक नया विकासखंड खोलने का भी ऐलान किया गया है।

new-modern
holy-ange-school

हिमाचल प्रदेश में सियासी संग्राम अब खत्म हो गया है, जिसके बाद कैबिनेट की मीटिंग हुई बुधवार शाम को मुख्यमंत्री ठाकुर सुखविंदर सिंह सुक्खू की अध्यक्षता में यह बैठक आयोजित की गई। इसमें ग्राम पंचायत एवं नगर निकायों की वित्तीय स्थिति की समीक्षा और प्रदेश सरकार को इस संदर्भ में संज्ञान प्रदान करने के दृष्टिगत सातवें राज्य वित्त आयोग का गठन का निर्णय लिया गया।

gyan-vigyan

बैठक में हिमाचल प्रदेश भवन एवं अन्य निर्माण कर्मकार कल्याण बोर्ड के तहत डेढ़ लाख श्रमिकों, आशा वर्कर, आंगनवाड़ी वर्कर एवं हेल्परों को आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत पंजीकृत करने का निर्णय लिया गया। मंत्रिमंडल ने हिमाचल प्रदेश औद्योगिक निवेश नीति 2019 के तहत  सूचना प्रौद्योगिकी, आयुष, स्वास्थ्य, पर्यटन और शिक्षा इत्यादि विभिन्न सेवा क्षेत्रों में और अधिक निवेश का निर्णय लिया।

मंत्रिमंडल ने श्रीनिवास रामानुजन डिजिटल डिवाइस योजना के अंतर्गत मेधावी विद्यार्थियों को ₹25000 तक की राशि देने का भी ऐलान किया। प्रदेश के लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं प्रदान करने के लिए 140 आयुर्वेदिक चिकित्सा अधिकारियों की नियुक्ति भी की जाने की मंजूरी दी।

मंत्रिमंडल ने शिमला जिला स्थित 50 बिस्तर की क्षमता वाले नागरिक अस्पताल को 100 बिस्तर की क्षमता वाले नागरिक अस्पताल में बदलने का निर्णय लिया।मंत्रिमण्डल ने शिमला जिला के कोटखाई क्षेत्र में राजकीय प्राथमिक पाठशाला, बाघी को राजकीय केन्द्र प्राथमिक पाठशाला में स्तरोन्नत करने का निर्णय लिया।

आपको बता दे की विक्रमादित्य सिंह ने अपनी ही सरकार से नाराजगी के चलते कैबिनेट से इस्तीफा दे दिया था। लेकिन सुक्खू सरकार में तकरार का मामला गुरुवार शाम को जब सुलझ गया तो विक्रमादित्य सिंह ने अपना इस्तीफा वापस ले लिया और फिर कैबिनेट की मीटिंग में उनके विधानसभा क्षेत्र शिमला ग्रामीण के सुन्नमी में सुन्नी अस्पताल को स्तरोन्त कर दिया गया।