karmik ekata manch

The government expressed its indignation towards the personnel indifferent, karmik ekata manch

अल्मोड़ा, 08 नवंबर 2020
उत्तराखंड सरकार द्वारा ​कार्मिकों के प्रति बेरुखी को लेकर कार्मिक एकता मंच (karmik ekata manch) के सदस्यों में जबर्दस्त आक्रोश है। सदस्यों ने कार्मिकों की सभी समस्याओं का निस्तारण किए जाने व मांगों पर उचित कार्रवाई करने की मांग की है।

राज्य स्थापना दिवस की पूर्व संध्या पर कार्मिक एकता मंच (karmik ekata manch) की ओर से यहां चौघानपाटा स्थित गांधी पार्क में एक विचार गोष्ठी का आयोजन किया गया।
इस दौरान सभी सदस्यों ने उत्तराखंड आंदोलन के निर्माण में अपना जीवन न्योछावर करने वाले शहीदों का स्मरण कर उन्हें भावपूर्ण श्रद्धांजलि अर्पित की। कहा कि राज्य में शहीदों के सपकों को साकार करने की जरूरत है।

कार्मिकों के प्रति उत्तराखंड सरकार की बेरुखी पर सदस्यों ने रोष प्रकट किया। कार्मिकों द्वारा बेसिक शिक्षा से राजकीय सेवा में आए कार्मिकों एसीपी नियुक्ति तिथि से प्रदान किए जाने, बेसिक शिक्षा से राजकीय सेवा में आए अध्यापकों को नियुक्ति तिथि से चयन प्रोन्नत वेतनमान प्रदान करने, बेसिक से 30 फीसदी एलटी समायोजन सूची तैयार करने, मिनिस्ट्रीयल कार्मिकों को निकटस्थ स्थानों पर पदो​न्नति संसोधित करने, कोटिकरण की प्रक्रिया को पूर्ण करने, शिथिलीकरण बहाल करने, फारगो नियमावली को निरस्त करने, गोल्डन कार्ड प्रक्रिया शुरू करने तथा नियुक्ति व पदोन्नति में अनिवार्य रूप से काउंसिलिंग किए जाने पर बल दिया गया। (karmik ekata manch)

इस अवसर पर वरिष्ठ उपाध्यक्ष धीरेंद्र कुमार पाठक, महासचिव दिगंबर फुलोरिया, भगवत सिंह बगडवाल, हेम चंद्र पांडे, नवीन चंद्र जोशी, मनोज कुमार पाठक, प्रहलाद सिंह रावत, नंदन सिंह नेगी आदि मौजूद थे। (karmik ekata manch)