Swami Ram manavta award 2020 to sachidanand Bharti

देहरादून। जल संरक्षण के लिए चलाए गए ‘पाणी राखो आंदोलन’ के प्रणेता, उत्तराखंड के पर्यावरणविद् और एक शिक्षक सच्चिदानंद भारती को स्वामी राम मानवता पुरस्कार 2020 (Swami Ram manavta award) लिए चयनित किया गया है। हिमालयन इंस्टीट्यूट हॉस्पिटल ट्रस्ट के संस्थापक डॉक्टर स्वामी राम के 25वें महासमाधि दिवस के अवसर पर आज 13 नवंबर को यह सम्मान दिया जाएगा

बताते चलें कि सच्चिदानंद भारती ने वर्ष 1989 में उत्तराखंड के पौड़ी जनपद के बीरोंखाल क्षेत्र के ऊपरैखाल क्षेत्र से पाणी राखों आंदोलन की शुरुआत की थी जिसमें जल तलैया के नाम से छोटे-छोटे खड्डे (चाल खाल) तैयार किए गए। इन चाल खाल में बरसात का पानी रोका गया जिससे भूमि का जलस्तर बढ़ने में सहयोग मिला और पर्यावरण संरक्षण में भी सहयोग मिला।

शिक्षक सच्चिदानंद भारती की अगुवाई वाली ‘दूधातोली लोक विकास संस्थान’ ने लोगों को प्रेरित व एकजुट करके वृक्षारोपण कार्यक्रम भी आयोजित किए हैं जिसके लिए उन्हें पूूूर्व मे भी अनेक पुरस्कारों से सम्मानित किया गया है।