उत्तरा न्यूज
अभी अभी उत्तराखंड पिथौरागढ़

व्यग्य संग्रह(satire collection) ‘मॉर्निंग वाक पर कुत्ते’ का समारोहपूर्वक विमोचन

satire collection

खबरें अब पाए whatsapp पर
Join Now


satire collection ‘Dogs on Morning Walk’

पिथौरागढ़, 22 जून 2022— -युवा साहित्यकार रमेश चंद्र जोशी के व्यंग्य संग्रह(satire collection) ‘मार्निंग वॉक पर कुत्ते’ का विमोचन 20 जून को मुख्य अतिथि जिला शिक्षा अधिकारी दिनेश चंद्र सती, अन्य अतिथियों व साहित्यप्रेमियों की उपस्थिति में समारोहपूर्वक किया गया।


पिथौरागढ़ जिला मुख्यालय में बीते रविवार की शाम शैक्षिक दखल की ओर से अजीम प्रेमजी फाउंडेशन के सभागार में आयोजित समारोह में मुख्य अतिथि डीईओ सती ने पुस्तक की प्रशंसा करते हुए कहा कि साहित्यकार समाज को दिशा देने का काम करता है।

इस व्यंग्य रचना से लेखक ने पाठकों को न केवल गुदगुदाने, बल्कि सोचने और समाज को सकारात्मक दिशा देने का काम किया है। संग्रह में विभिन्न विषयों पर लिखे व्यंग्य आलेख पाठकों का स्वस्थ मनोरंजन करने के साथ ही विसंगतियों और बुराइयों की जकड़ में आ रहे समाज को आइना दिखाने का काम भी करते हैं।


इससे पूर्व आरंभ से जुड़े युवा महेंद्र ने संग्रह में ‘मेहंदी’ नामक शीर्षक के आलेख का वाचन किया, जिसे सुनकर सभागार में तालियां बजती रहीं। पुस्तक की समीक्षा करते हुए साहित्यकार चिंतामणि जोशी ने रमेश जोशी के व्यंग्य संग्रह को सुसंगत, साफ व निरपेक्ष बताते हुए कहा कि उनकी साफगोई और विषय संदर्भ काफी प्रभावित करने वाले हैं। प्रत्येक व्यंग्य आलेख बहुत रोचक व पठनीय हैं।

उनकी व्यंजना और अभिधा जबरदस्त है। उन्होंने कहा कि लेखक मानव व्यवहार और मानवीय संबंधों के अच्छे पारखी हैं, जिन्होंने अपने समाज और दुनिया का गहन-गंभीर अवलोकन करते हुए हर छोटी-बड़ी घटना को आत्मसात कर अपने अनुभवों को व्यंग्य रचना के माध्यम से समाज के सामने रखा हैै।


इस अवसर पर व्यंग्य रचना(satire collection) के लेखक रमेश जोशी ने आभार जताते हुए कहा कि सबके सहयोग से यह पुस्तक प्रकाशित हो पायी है। यह पाठकों पर निर्भर है कि इसे किस रूप में स्वीकार करें। उन्होंने सभी से अपील की कि इस पुस्तक को पढ़कर अपने अनुभव व सुझाव उनसे साझा करेंगे।


प्रधानाचार्य और कवि नीरज पंत ने कहा कि व्यंग्य विधा में लेखन आसान नहीं है, परंतु लेखक रमेश जोशी ने सहज और सरल तरीके से सामान्य विषयों पर प्रभावशाली व्यंग्य लिखे हैं। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए डॉ दीप चौधरी ने कहा कि पुस्तक के शीर्षक चयन से लेकर उप शीर्षकों में भी व्यंग्य झलकता है। उन्होंने आम जन से जुड़े मुद्दों और समस्याओं को उजागर किया है।

satire collection
satire collection


कार्यक्रम का संचालन कवि, आलोचक और शैक्षिक दखल के संपादक महेश पुनेठा ने किया। उन्होंने कहा कि व्यंग्य लेखन(satire collection) दुधारी तलवार है, परंतु लेखक ने बहुत सहजता से अपनी बात रखते हुए विषमताओं को उजागर किया है और उनके समाधान की ओर भी इशारा किया है।

जूनि हाईस्कूल मंडप के प्रधानाध्यापक हरीश चंद्र पांडेय ने आयोजकों की ओर से सबका अभार जताते हुए कहा कि लेखक ने अपनी व्यंग्य रचना से समाज को पढ़ने की दिशा में आगे ले जाने का कार्य किया है।

satire collection
satire collection


कार्यक्रम में वरिष्ठ लेखक पदमादत्त पंत, वरिष्ठ नागाकि व शिक्षाविद गोविंद बल्लभ जोशी, दिनेश भट्ट, विद्या खर्कवाल, विप्लव भट्ट, जगदीश कलौनी, कैलाश कुमार, रेणुका जोशी, शीला पुनेठा, नवल पंत, सौरभ पंत, राजीव जोशी, किशोर पाटनी, जयमाला देवलाल, भुवन पांडेय, मनोज कुमार, संतोष पंत, रचना शर्मा, मंजूलता, लक्ष्मी जोशी, अर्चना जोशी, दीप्ति भट्ट, आशा सौन, राजेंद्र जोशी, रक्षिता जोशी, प्रेरणा जोशी, दिव्या पाठक, अभिषेक पुनेठा, आशीष चौधरी व मुकेश सहित अनेक साहित्यप्रेमी व युवा मौजूद थे।

Related posts

किसानों को 50 फीसदी छूट(50 Percent discount) पर दिये कृषि उपकरण

जलवायु परिवर्तन(Climate change) पर हुई बैठक में परियोजनाओं का व्यवहारिकता को परखने की जरूरत जताई

Newsdesk Uttranews

राष्ट्रीय युवा हिन्दु वाहिनी ने शुरू किया सदस्यता अभियान

Newsdesk Uttranews