guest teachers

Poem is the medium of expression of inner self: Dr. Ramesh

अल्मोड़ा, 7 नवंबर 2020
कविता अंतर्मन की अभिव्यक्ति का माध्यम है। कविता(poem) वाचन में हम उतार-चढ़ाव व लय के साथ गाकर कविता को और अधिक रोचक बना सकते हैं।

ये बात कविता (poem) पाठ सत्र में मुख्य अतिथि वरिष्ठ बाल साहित्यकार डॉ. दिविक रमेश ने भारत ज्ञान विज्ञान समिति तथा बालसाहित्य संस्थान अल्मोड़ा द्वारा आयोजित कविता पाठ कार्यशाला में कही।

बच्चों की कविता(poem) सुनने के बाद उन्होंने कहा कि बच्चों में पठन-पाठन की संस्कृति को बढ़ावा देने के लिए ये कार्यक्रम अपने आप में अनूठा कार्यक्रम था। उन्होंने बच्चों को उच्चारण एवं प्रस्तुतीकरण के बारे में भी कई टिप्स दिए।

कार्यशाला में तंजिल, तानिया, प्रेरणा, आयुष , दुर्गा, यशपाल,प्रिया, सुवर्णा, आद्या, शिवांशी,देवरक्षिता, प्रांजलि, चित्रांशी, गुंजन, निहारिका, तुलसी, मीनाक्षी, चैतन्य, आदित्य, रश्मि , दीपांशु, रोमा, कोमल,शवेता, सृष्टि , अर्जरागिनी, नेहा, देव, जयवर्धन, गरिमा, जिज्ञासा, प्रियांशी, सुरेंद्र,चंदन, काव्या, देवांश, आस्था, वान्या, गायत्री समेत 44 बच्चों ने प्रतिभाग किया।

कार्यशाला में सोहनलाल द्विवेदी, शिवमंगल सिंह ‘सुमन’, सफदर हाशमी, सुरेंद्र विक्रम, हरिकृष्ण दास गुप्त, कल्पनाथ सिंह, रमेश पंत, महेंद्र जैन, जयप्रकाश भारती, मैथिलीशरण गुप्त, माखनलाल चतुर्वेदी, सुमित्रानंदन पंत, सूर्यकांत त्रिपाठी ‘निराला’, सुभद्राकुमारी चौहान, पं. रामनरेश त्रिपाठी, महादेवी वर्मा, खुशालसिंह खनी, मोहम्मद साजिद खान, सर्वेशवर दयाल सक्सेना, डॉ. दिविक रमेश, गोपालकृष्ण कॉल, नागार्जुन, डॉ. आद्याप्रसाद सिंह ‘प्रदीप’, डॉ. नागेश पांडेय ‘संजय’, मधुसूदन साहा दामोदर अग्रवाल, मैथिलीशरण गुप्त, हरिवंशराय बच्चन, निरंकार देव सेवक, साहिर लुधियानवी, रामदुलार सिंह पराया, मीनू जोशी, दिनेश चमोला ‘शैलेय’, देवीदत्त जोशी आदि प्रसिद्ध कवियों की रचनाओं (poem) का वाचन किया।

प्रारंभ में बालप्रहरी संपादक उदय किरौला ने मुख्य अतिथि का परिचय कराते हुए सभी का स्वागत किया। अंत में बालसाहित्य संस्थान के उपाध्यक्ष नीरज पंत ने सभी का आभार व्यक्त किया।

इस अवसर पर शिक्षाविद् आकाश सारस्वत, श्याम पलट पांडेय, उषा सोमानी, मोतीप्रसाद साहू, कृपालसिंह शीला, महेश रौतेला, विमला जोशी, दलीप बोरा, आभा जोशी, नीरज पंत, केशवदत्त जोशी, मीनू जोशी, डॉ. सतीश भट्ट, दीप पांडे आदि मौजूद थे।

इससे पूर्व तपेश भौमिक की अध्यक्षता में संचालित अखिल भारतीय कवि सम्मेलन में मुख्य अतिथि प्रकाश तातेड़, गोविंद बल्लभ बहुगुणा, डली रानी ब्रहमा, डॉ (मेजर) शक्तिराज कौशिक, मीरासिंह ‘मीरा’, कुसुम अग्रवाल, धाराबल्लभ पांडेय, डॉ. राकेश चक्र, नरेंद्र बहुगुणा आदि ने बाल कविताएं (poem) पढ़ी। संचालन भारत ज्ञान विज्ञान समिति के कृपालसिंह शीला ने किया।