shishu-mandir

उत्तराखंड के सभी विश्वविद्यालयों के पीजी पाठ्यक्रमों में लागू होगी नई शिक्षा नीति

editor1
2 Min Read
Screenshot-5

हल्द्वानी। उत्तराखंड के सभी राज्य विश्वविद्यालयों के पीजी पाठ्यक्रमों में इसी सत्र से नई शिक्षा नीति (एनईपी) लागू करने की तैयारी की जा रही है। वर्तमान में स्नातक पाठ्यक्रमों में एनईपी के तहत प्रवेश करवाए गए हैं। राष्ट्रीय शिक्षा नीति को लेकर शनिवार को उत्तराखंड मुक्त विश्वविद्यालय हल्द्वानी में राज्य विश्वविद्यालयों की बैठक हुई जिसमें उत्तराखंड के विश्वविद्यालयों के कुलपतियों सहित विषय विशेषज्ञ शामिल रहे।

new-modern
gyan-vigyan

बैठक की अध्यक्षता श्रीदेव सुमन विश्वविद्यालय के कुलपति एवं एनईपी ड्राफ्टिंग कमेटी के चेयरमैन प्रो. एनके जोशी ने की। बैठक में कुमाऊं विवि, यूओयू हल्द्वानी, एसएसजे विवि अल्मोड़ा, श्रीदेव सुमन विवि और दून विश्वविद्यालय के प्रतिनिधियों ने हिस्सा लिया। इस दौरान व्यावसायिक और कौशल पाठ्यक्रमों पर भी मंथन किया। बताया गया कि पांचों राज्य विश्वविद्यालयों और प्रशिक्षण एवं कौशल विकास विभाग के अंतर्गत संचालित स्किल कोर्सों को सूचीबद्ध करने का निर्णय लिया गया। इससे छात्र को विभिन्न कोर्सों का विकल्प मिलेगा, जिसमें से विद्यार्थी एक कौशल परक विषय का चयन करेंगे।

वहीं नई शिक्षा नीति की बैठक में फैसला लिया गया है कि उत्तराखंड के सभी विश्वविद्यालयों में इसी साल से पीजी पाठ्यक्रमों एनईपी लागू की जाएगी। नए सत्र में पीजी में प्रवेश लेने वाले विद्यार्थियों को नई व्यवस्था के तहत प्रवेश मिलेगी। इस दौरान सभी विश्वविद्यालयों से विषयवार ड्राफ्ट तैयार करने को भी कहा गया है।