मुआवजा

Compensation not received even after 3 years of building power house

पिथौरागढ़ सहयोगी, 27 अक्टूबर 2020
कृषि योग्य भूमि पर पावर हाउस बनाने के 3 साल बाद भी अब तक मुआवजा न दिए जाने के विरोध में एनएसयूआई कार्यकर्ताओं ने तहसील बंगापानी में 2 घंटे का सांकेतिक धरना दिया। साथ ही कुमाऊं आयुक्त को ज्ञापन भेजकर आंदोलन की चेतावनी दी गई।

एनएसयूआई जिला उपाध्यक्ष विक्रम दानू के नेतृत्व में युवाओं ने सांकेतिक धरने के बाद कुमाऊं आयुक्त को भेजे ज्ञापन में कहा है कि पावर ट्रांसमिशन कॉरपोरेशन ऑफ उत्तराखंड ने तहसील बंगापानी निवासी भवानी देवी की कृषि योग्य भूमि पर पावर हाउस बनाया है।

इसके एवज में भवानी देवी को मुआवजा देने की मांग तहसीलदार तथा एसडीएम बंगापानी और जिलाधिकारी से तीन बार ज्ञापन देकर की जा चुकी है लेकिन 3 साल बीतने के बावजूद मौजा नहीं मिल पाया है।

कहा है कि शासन प्रशासन की अनदेखी से भवानी देवी का उत्पीड़न हो रहा है और वह काफी परेशान हैं। एनएसयूआई ने समस्या का समाधान न होने पर 11 नवंबर को धरना—प्रदर्शन की चेतावनी दी है।